UPS का full form क्या होता है in hindi

ups full form, abbreviation of ups, meaning of ups

हैलो दोस्तों, आज हम इस लेख के माध्यम से जानेंगे abbreviation of UPS के बारे में जो एक computer hardware device है. UPS क्या है, UPS full form in Hindi, ये कैसे काम करता है और इसमें कौन कौन से हार्डवेयर डिवाइस लगे होते है. अगर आप जानना चाहते है तो बने रहे, आपको सभी जानकारिया यही मिलेगी लेकिन अंत तक पढ़ना न भूले.

वैसे जो लोग ऑफिस में काम करते हैं या फिर निरंतर रूप से कंप्यूटर सिस्टम(computer system in Hindi) के संपर्क में रहते हैं , वह लोग यूपीएस के बारे में तो सुने ही होंगे. यूपीएस (Information about UPS in Hindi) के बारे में बहुत से ऐसे लोग हैं , जो नहीं जानते हैं (Full meaning of UPS in Hindi). जिन लोगों को यूपीएस के बारे में जानकारी नहीं होती यदि उनके सामने कोई UPS शब्द (correct meaning) का उच्चारण करता है, तो वह लोग किसी कोर्स या डिप्लोमा समझते हैं.

अगर आप यूपीएस क्या है ?(what is UPS in Hindi), यूपीएस का फुल फॉर्म क्या है ?(what is the full form of UPS in Hindi) और यूपीएस से संबंधित जानकारी(information about UPS in Hindi) जानना चाहते हैं , तो अंतिम तक अवश्य पढ़ें.

यूपीएस क्या है ? (What is UPS in Hindi):

UPS meaning in Hindi: UPS एक ऐसा हार्डवेयर उपकरण (Computer hardware electronic machine) होता है , जो कंप्यूटर(computer) में टेलीकम्युनिकेशन (telecommunication) उपकरण के और अन्य उपकरण को प्रत्याशित पावर डिस्कशन से सुरक्षा करता है. यूपीएस एक ऐसा उपकरण होता (UPS device detail in Hindi)है , जो कंप्यूटर को मेन पावर (computer main power supply) के चले जाने के बावजूद भी थोड़ी देर तक पावर सप्लाई देकर लगातार चालू रखने में सहायता करता है.

जब आप कंप्यूटर का प्रयोग कर रहे होते हैं और उस दौरान अचानक से मेन सप्लाई (Power Supply) कट जाती है , तो आपका जो भी डाक्यूमेंट्स होता है वह कंप्यूटर के अंदर रन कर रहा होता है और मेन सप्लाई बंद होने की वजह से आपका कंप्यूटर शटडाउन (computer shutdown) हो सकता है , ऐसे में यूपीएस आपके कंप्यूटर को थोड़े समय तक चालू रखने में आपकी सहायता कर सकता है । बीच में आप अपने सारे डाक्यूमेंट्स(document details) को सेव (Save) कर सकते हैं और कंप्यूटर को सही तरीके से शटडाउन (how to shutdown computer in Hindi) भी कर सकते हैं।

यूपीएस का प्रयोग कहां कहां पर होता है ?(Uses of UPS in Hindi):


यूपीएस का प्रयोग वहाँ पर किया जाता है , जहां पर ऐसे डिवाइस (Device) का प्रयोग होता है , जो इंटरप्शन फ्री पावर की डिमांड करते हैं । इस प्रकार के डिवाइस यदि प्रयोग में होते हैं , तो ऐसी स्थिति में अचानक से पावर कनेक्शन बंद हो जाता है , तो उनके अंदर जो भी डाटा रहता है , वह खत्म हो जाता है या मिट जाता है. ऐसे डिवाइसों को प्रयोग में लेने के लिए यूपीएस की आवश्यकता पड़ती है । UPS पावर की अधिकता को भी नियंत्रित करने में सहायक होता है.

यूपीएस का फुल फॉर्म क्या होता है ?(what is full form of UPS in Hindi):


UPS full form in Hindi : यूपीएस का हिंदी फुल फॉर्म अनइंटरप्टिबल पावर सप्लाई (uninterruptible power supply) होता है । हिंदी में हम UPS को (बाधा रहित विद्युत आपूर्ति) के नाम से भी जानते हैं ।


यूपीएस कितने प्रकार के होते हैं ? (How many types of UPS in Hindi)

Types of UPS in Hindi : क्षमता एवं उपयोग के हिसाब से यूपीएस (type of UPS in Hindi) कई प्रकार के हो सकते हैं । हमने मुख्यतः प्रकार के यूपीएस के बारे में बताएं है , जो इस प्रकार निम्नलिखित हैं.

  1.  Standby UPS
  2.  Line Interactive
  3.  Standby on-line Hybrid
  4.  Standby-Ferro
  5.  Double Conversion On-Line
  6.  Data Conversion On-Line

इनवर्टर और यूपीएस में क्या अंतर है? (What is difference between Inverter and UPS in Hindi)

यूपीएस और इनवर्टर में बहुत से अंतर हो सकते हैं । हमने कुछ महत्वपूर्ण अंतर के बारे में हमने वर्णन किया है , जो इस प्रकार है.

यूपीएस (UPS uses in Hindi) का प्रयोग खासतौर पर कंप्यूटर या ऐसे डिवाइसों के प्रयोग में लिया जाता है , जो कम पावर पर थोड़े समय तक चल सके । जबकि इनवर्टर (Inverter uses in Hindi) का प्रयोग आप घरेलू (domestic use) एवं कमर्शियल (commercial uses) रूप में भी ले सकते हैं। यूपीएस के बजाय इनवर्टर ज्यादा समय तक एवं अधिक पावर जनरेट रखने में सहायक होता है.


. अगर हम कंप्यूटर का इस्तेमाल करते समय इनवर्टर (Inverter used in computer) का प्रयोग करते हैं , तो अचानक से मेन पावर कटने के बाद आपका कंप्यूटर एक माइक्रो सेकंड (microsecond) के लिए बंद हो सकता है और उसके बाद से इनवर्टर इसे पावर दे सकता है ।मगर इस माइक्रो सेकंड के अंदर ही आपका कंप्यूटर शटडाउन(computer shutdown details) हो सकता है और उसमें जो भी आपने टास्क (task) कर रखा होगा वह इस बीच खराब या डिलीट भी हो सकता है । वहीं पर अगर हम यूपीएस (UPS uses in computer) का प्रयोग करते हैं , तो आपको बिना इंटरेक्शन के काम करने की आजादी कंप्यूटर पर मिल जाती है.

You May Also Like

About the Author: HindiMeSikhe

HindiMeSikhe blog पर आपको हमेशा कुछ नया सिखने को मिलेगा जिससे आप घर बैठे पैसा भी कमा सकते है. अगर अपको हमारे द्वारा साझा कि गयी जानकारी अच्छा लगा हो तो कृपया और लोगो तक पहुचाने में मेरी मदद करे. अगर आप भी अपना ज्ञान बांटना चाहते है तो कृपया admin@hindimesikhe.com पर अपना content भेजे. जुरिये हमसे और अपनी बातें दुनिया तक पहुंचाए. Share जरूर करिये, धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *